राष्ट्रीय सेवा योजना- N.S.S.       

राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) भारत सरकार, युवा मामलों और खेल मंत्रालय की एक केंद्रीय योजना है। यह भारत में बोर्ड स्तर पर स्कूलों के 11वीं और 12वीं कक्षा के युवा छात्र और तकनीकी संस्थानों, कॉलेजों और विश्वविद्यालय स्तर में स्नातक और स्नातकोत्तर के युवा छात्र के विभिन्न सरकारी सामुदायिक सेवा गतिविधियों और कार्यक्रमों में भाग लेने और नेतृत्व का अवसर प्रदान करता है ।

राजकीय महाविद्यालय अमोड़ी में राष्ट्रीय सेवा योजना का समग्र उद्देश्य सामुदायिक सेवा के माध्यम से छात्रों के व्यक्तित्व का विकास है। यह उच्च शिक्षा प्रणाली को एक विस्तार आयाम प्रदान करता है और छात्र युवाओं को सामुदायिक सेवा के लिए उन्मुख करता है, जबकि वे शैक्षिक संस्थान में अध्ययन करते हैं।

राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) के मुख्य उद्देश्य हैं–

➡️ उस समुदाय को समझें जिसमें वे काम करते हैं।
➡️ अपने समुदाय के संबंध में खुद को समझें।
➡️ समुदाय की जरूरतों और समस्याओं की पहचान करें और उन्हें समस्या-समाधान में शामिल करें।
➡️ आपस में सामाजिक और नागरिक जिम्मेदारी की भावना विकसित करें।
➡️व्यक्तिगत और सामुदायिक समस्याओं के व्यावहारिक समाधान खोजने में अपने ज्ञान का उपयोग करें।
➡️ समूह-जीवन और जिम्मेदारियों के बंटवारे के लिए आवश्यक क्षमता विकसित करना
समुदाय की भागीदारी जुटाने में लाभ कौशल प्राप्त करना।
➡️ नेतृत्व के गुण और लोकतांत्रिक दृष्टिकोण प्राप्त करना।
➡️आपात स्थिति और प्राकृतिक आपदाओं को पूरा करने के लिए क्षमता विकसित करना

आदर्श वाक्य–

एनएसएस का आदर्श वाक्य “स्वयं से पहले आप”, लोकतांत्रिक जीवन के सार को दर्शाता है और आत्म-विहीन सेवा की आवश्यकता को बरकरार रखता है। एनएसएस छात्रों को अन्य व्यक्ति के दृष्टिकोण के विकास और प्रशंसा में मदद करता है और अन्य जीवित प्राणियों के प्रति भी विचार दिखाता है। एनएसएस का दर्शन इस आदर्श वाक्य में एक अच्छा सिद्धांत है, जो इस विश्वास को रेखांकित करता है कि एक व्यक्ति का कल्याण अंतत पूरे समाज के कल्याण पर निर्भर है और इसलिए एनएसएस स्वयंसेवक समाज की भलाई के लिए प्रयास करेंगे ।

एन. एस. एस. प्रतीक चिन्ह-

एनएसएस के लिए प्रतीक चिन्ह भारत के उड़ीसा में स्थित विश्व प्रसिद्ध कोणार्क सूर्य मंदिर (काला शिवालय) के विशालकाय रथ व्हील पर आधारित है। लोगो में निहित लाल और नीले रंग एनएसएस स्वयंसेवकों को राष्ट्र निर्माण सामाजिक गतिविधियों के लिए सक्रिय और ऊर्जावान होने के लिए प्रेरित करते हैं ।

पहिया निर्माण, संरक्षण और रिहाई के चक्र को चित्रित करता है और समय और अंतरिक्ष में जीवन में आंदोलन का प्रतीक है, पहिया इस प्रकार निरंतरता के साथ-साथ परिवर्तन के लिए खड़ा है और सामाजिक परिवर्तन के लिए एनएसएस के निरंतर प्रयास का तात्पर्य है।

एन.एस.एस. बैज-

एनएसएस के नेतृत्व वाली सामुदायिक सेवा के माध्यम से राष्ट्र की सेवा करने का विकल्प चुनने वाले सभी युवा स्वयंसेवक एनएसएस बैज को गर्व के साथ पहनते हैं और जरूरतमंदों की मदद करने की दिशा में जिम्मेदारी की भावना रखते हैं। 8 बार वाले एनएसएस बैज में कोणार्क व्हील एक दिन के 24 घंटे का प्रतीक है, पहनने वाले को चौबीसों घंटे यानी 24 घंटे के लिए राष्ट्र की सेवा के लिए तैयार रहने की याद दिलाता है। बैज में लाल रंग एनएसएस स्वयंसेवकों द्वारा प्रदर्शित ऊर्जा और भावना का प्रतीक है। नीला रंग ब्रह्मांड का प्रतीक है जिसमें से एनएसएस एक छोटा सा हिस्सा है, जो मानव जाति के कल्याण के लिए अपने हिस्से का योगदान करने के लिए तैयार है ।

एनएसएस स्वयंसेवी होने के लाभ-

✅ एक निपुण सामाजिक नेता
✅ एक कुशल प्रशासक
✅ एक व्यक्ति जो मानव स्वभाव को समझता है

राजकीय महाविद्यालय अमोड़ी में एन0एस0एस0 पूर्व प्रभारी डॉ0 रंजना सिंह असिस्टेंट प्रोफेसर अंग्रेजी को चम्पावत जनपद में जनपद स्तरीय उत्कृष्ट एन0एस0एस0 कार्य हेतु उत्कृष्ट सम्मान से अलंकृत किया गया है साथ ही महाविद्यालय के 04 छात्राओं को भी उक्त सम्मान से अलंकृत किया गया है

VIEW PDF राष्ट्रीय सेवा योजना मैनुअल 2006 

VIEW PDF NSS Diary

एन0एस0एस0 प्रभारीः
श्रीमती पुष्पा, सहायक आचार्य, इतिहास
राजकीय महाविद्यालय अमोड़ी

Few Glimpse of Activity

 

NSS Special Camp: Primary School Kot Amori (23 January 2024 to 29 January2024)